संमिलन सीमा

भूवैज्ञानिक प्लेट विवर्तनिकी में संमिलन सीमा (convergent boundary) वह सीमा होती है जहाँ पृथ्वी के स्थलमण्डल (लिथोस्फ़ीयर) के दो भौगोलिक तख़्ते (प्लेटें) एक दूसरे की ओर आकर टकराते हैं या आपस में घिसते हैं। ऐसे क्षेत्रों में दबाव और रगड़ से भूप्रावार (मैन्टल) का पत्थर पिघलने लगता है और ज्वालामुखी तथा भूकम्पन घटनाओं में से एक या दोनों मौजूद रहते हैं। संमिलन सीमाओं पर या तो एक तख़्ते का छोर दूसरे तख़्ते के नीचे दबने लगता है (इसे निम्नस्खलन या सबडक्शन कहते हैं) या फिर महाद्वीपीय टकराव होता है।[1]

अन्य भाषाओं
العربية: حدود متقاربة
čeština: Aktivní okraj
فارسی: مرز همگرا
Kreyòl ayisyen: Limit konvèjan
Bahasa Indonesia: Batas konvergen
íslenska: Flekamót
日本語: 収束型境界
한국어: 수렴 경계
português: Limite convergente
srpskohrvatski / српскохрватски: Konvergentna granica
Simple English: Convergent boundary
slovenčina: Aktívny okraj
Tiếng Việt: Ranh giới hội tụ