बेस गिटार

Bass guitar
Electric bass guitar, electric bass, bass
वर्गीकरण

String instrument (plucked or picked; rarely strummed)

वादन श्रेणी
Range contrabass.png
(a standard tuned 4 string bass guitar)
इस श्रेणी के अन्य वाद्य
  • Electric guitar
  • Double Bass
  • Acoustic bass guitar
संगीतज्ञ
  • List of bass guitarists

बेस गिटार[1] (इलेक्ट्रिक बेस[2][3][4] या सिर्फ बेस भी कहा जाता है; उच्चारण सहायता /ˈbeɪs/, जैसा कि "बेस (base)" में) एक तंत्रवाद्य है जिसे मुख्यतः उंगली या अंगूठे से (प्लकिंग, स्लैपिंग, पॉपिंग, टैपिंग या थम्पिंग के द्वारा), या जव्वा का उपयोग करके बजाया जाता है।

बेस गिटार दिखने में और संरचना में इलेक्ट्रिक गिटार के समान है, लेकिन इसकी गरदन और स्केल लंबे और चार, पांच, या छः तंत्री होती हैं। चार तारों वाला बेस -अब तक का सर्वाधिक आम- बेस, है जिसे आमतौर पर एक गिटार के निचले चार तारों (ई, ए, डी और जी) से एक सप्तक नीची तारता के अनुरूप, डबल बेस की भांति समस्वरित किया जाता है।[5][6] बेस गिटार एक स्वर स्थानांतरण यंत्र है क्योंकि इसमें अत्यधिक लेजर रेखाओं से बचने के लिए इसकी ध्वनि से एक सप्तक ऊपर बेस पराससूचक में स्वरांकित किया जाता है (जैसा कि डबल बेस में है). इलेक्ट्रिक गिटार की तरह, इलेक्ट्रिक बेस गिटार को जीवंत प्रदर्शन के लिए एक प्रवर्धक और स्पीकर से जोड़ा जाता है।

1950 के दशक के बाद से, इलेक्ट्रिक बेस गिटार ने लोकप्रिय संगीत के लय अनुभाग में बेस यंत्र के रूप में डबल बेस को काफी हद तक प्रतिस्थापित कर दिया है। जबकि बेस गिटारवादक द्वारा बजाए जाने वाली बेसलाइन के प्रकार संगीत की एक शैली से दूसरी में बदलते रहते हैं, एक बेस गिटारवादक समस्वरित संरचना को स्थिर करके तथा ताल निर्धारित करके, इसी प्रकार की भूमिका अधिकांश प्रकार के संगीत में पूर्ण करता है। बेस गिटार रॉक, मेटल, पॉप, एसकेए, रेगे, डब, पंक रॉक, कंट्री, ब्लूज़ और जैज सहित संगीत की अनेक शैलियों में प्रयुक्त होता है। जैज, फ्यूजन, लैटिन, फंक और कुछ रॉक तथा भारी मेटल शैलियों में इसका एकल उपकरण के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

इतिहास

1930-1940 के दशक

सिएटल, वाशिंगटन में संगीत उपकरण आविष्कारक पॉल टट्मार्क अपनी संगीत की दुकान के बाहर

1930 के दशक में सिएटल, वाशिंगटन के संगीतकार और आविष्कारक पॉल टटमार्क ने क्षैतिज पकड़ कर बजाने के लिए डिजाइन किए गए आधुनिक रूप के पहले पर्दे युक्त इलेक्ट्रिक बेस का विकास किया। टटमार्क की इलेक्ट्रोनिक संगीत वाद्ययंत्र कंपनी ऑडियोवॉक्स के 1935 के बिक्री सूचीपत्र में उनका एक चार तारों वाला, ठोस-बॉडी, 30½-इंच स्केल लंबाई के साथ पर्दे युक्त इलेक्ट्रिक बेस वाद्ययंत्र “मॉडल 736 बेस फिडल” शामिल था।[7] एक "गिटार" के रूप में परिवर्तन से इस वाद्ययंत्र को पकड़ना और उसका परिवहन आसान हो गया तथा पर्दों के जोड़ने से बेसवादक के लिए सुर में बजाना और आसान हो गया। इस अवधि के दौरान 100 के आसपास ये उपकरण बनाए गए थे।

1947 के आसपास, टटमार्क के पुत्र, बड ने सेरिनेडर ब्रांड नाम के अंतर्गत इसी के समान बेस का विपणन शुरू किया, जिसको राष्ट्रीय स्तर पर वितरित '48 की एलडी हीटर कं. की थोक विक्रेता सूची में प्रमुखता से विज्ञापित किया गया था। हालांकि, टटमार्क परिवार के आविष्कारों को बाजार में सफलता हासिल नहीं हुई.

1950 का दशक

दूसरी पीढ़ी प्रेसिजन बेस के लिए लियो फेंडर को डिजाइन पेटेंट जारी हुआ

1950 के दशक में, लियो फेंडर ने अपने कर्मचारी जॉर्ज फुलर्टन की सहायता से पहले बड़े पैमाने पर उत्पादित इलेक्ट्रिक बेस का विकास किया।[8] उनके द्वारा 1951 में शुरू किया गया फेंडर प्रिसिजन बेस, व्यापक रूप से नकल किया जाने वाला उद्योग का मानक बन गया। आराम तथा एक एकल चार-पोल "एकल कुंडली पिकअप" के लिए, एक एकल कुंडली पिकअपके साथ एक टेलीकास्टर के समान डिजाइन वाले, एक सरल, बिना रूपरेखा वाली "पट्टी" बॉडी से ढलवां किनारों वाले एक निर्धारित बॉडी डिजाइनयुक्त प्रिसिजन बेस (या “पी-बेस”) का विकास हुआ। 1957 में शुरू किए गए "स्प्लिट पिकअप" में लगता है दो मैंडोलिन रहे थे (फेंडर उस समय एक चार तंत्रियों के ठोस बॉडी वाले इलेक्ट्रिक मैंडोलिन का विपणन कर रहा था). श्रेणी क्रम में जुड़ी हुई दो कुंडलियां एक हमबकिंग प्रभाव उत्पन्न करती थीं क्योंकि कुंडलियों के ध्रुव खंडों को एक दूसरे से उलट दिया गया था और तारों को भी एक दूसरे के प्रति उलट दिया गया था। (ठीक यही प्रभाव दोनों कुंडलियों को समानांतर क्रम में जोड़ने से भी उत्पन्न होता है).

एक मानक फेंडर जैज बेस (आगे और पीछे के विचार)

"फेंडर बेस एक नया क्रांतिकारी वाद्ययंत्र था, जो एक इलेक्ट्रिक गिटारवादक द्वारा आसानी से बजाया जा सकता था, जिसे आसानी से एक घोड़ागाड़ी तक ले जाया जा सकता था, जिसको प्रतिपुष्टि किए बिना किसी भी तीव्रता तक प्रवर्धित किया जा सकता था”.[9] मोंक मोंगोमेरी विश्वयुद्ध के बाद लियोनेल हैम्प्टन के बिग बैंड के साथ फेंडर बेस गिटार सहित दौरा करने वाला प्रथम बेस वादक था।[10] हैम्पटन के बैंड में मोंगोमेरी की जगह लेने वाले रॉय जॉनसन तथा लुई जॉर्डन और उसके टिंपनी फाइव के साथ शिफ्टी हेनरी अन्य अग्रणी प्रारंभिक फेंडर बेस वादक थे।[8] बिल ब्लैक ने एल्विस प्रेस्ली के साथ वादन करते हुए 1957 के आसपास फेंडर प्रिसिजन बेस को अपनाया था।[11]

फेंडर का अनुकरण करते हुए गिब्सन ने 1953 में, बढ़ाई जा सकने वाली एंड पिन के साथ वायलिन के आकार का इलेक्ट्रिक बेस जारी किया जिसे क्षैतिज या ऊर्ध्वाधर पकड़ कर बजाया जा सकता था। गिब्सन ने 1958 में अपने इलेक्ट्रिक बेस का फिर से नाम रखा ईबी-1 (EB-1)[12] (ईबी-1 को 1970 के आसपास फिर से जारी किया गया था, लेकिन इस बार बिना पिन के.) 1958 में भी गिब्सन ने मेपल के धनुषाकार शीर्ष वाला ईबी-2 (EB-2) जारी किया जिसको गिब्सन की सूची में एक दो भिन्न लययुक्त विशेषताओं के लिए एक बेस/बैरीटोन पुशबटन की सुविधायुक्त एक खोखली बॉडी वाले बेस के रूप में वर्णित किया गया था।[13] इनके बाद 1959 और अधिक परंपरागत दिखने वाला ईबी-0 बेस आया। ईबी-0 दिखने में बहुत कुछ गिब्लन एसजी के समान था (यद्यपि प्रारंभिक उदाहरणों में इसका आकार डबल-कटअवे लेस पॉल स्पेशल के आकार से मिलता जुलता पट्टी-पार्श्व वाला था).

गिब्सन EB-3

जबकि फेंडर बेसों में गरदन के आधार और ब्रिज के शीर्ष के बीच में आरोहित पिकअप थे, गिब्सन के कई प्रारंभिक बेसों में सीधे गरदन की पॉकेट पर ही आरोहित एक हमबकिंग पिकअप था। 1961 में आए ईबी-3 (EB-3) में भी ब्रिज के स्थान पर एक “मिनी-हमबकर” था। गिब्सन बेस और अधिक छोटे और आकर्षक वाद्ययंत्र होते गए थे; गिब्सन ने 1963 तक 34” स्केल बेस उत्पादित नहीं किया था, जब गिब्सन का पहला गरदन और ब्रिज के लगभग बीचों बीच अधिक पारंपरिक स्थान पर दोहरे-हमबकिंग पिकअप का उपयोग करने वाला, बेस थंडरबर्ड जारी हुआ था। एक छोटी संख्या में अन्य कंपनियों ने भी 1950 के दशक में बेस गिटार का निर्माण शुरू किया थाः के (Kay) 1952 में, डैनिलेक्ट्रो (Danelectro) 1956 में;[11]

1956 में जर्मन व्यापार मेले "म्यूजिकमेसे फ्रैंकफर्त" में दूसरी पीढ़ी के वॉयलिन शिल्पी वॉल्टर हॉफनर की वॉयलिन निर्माण तकनीकों का उपयोग करके बनाया गया विशिष्ट वॉयलिन बेस हॉफनर 500/1 सामने आया।[14] पॉल मकार्टनी द्वारा अनुमोदन की वजह से इस वाद्ययंत्र को अक्सर बीटल बेस के नाम से जाना जाता है।

1957 में रिकनबैकर ने बॉडी-में से-गरदन डिजाइन की सुविधा वाला पहला बेस मॉडल 4000 बेस प्रस्तुत किया; फेंडर और गिब्सन संस्करणों में गरदनों को बोल्ट से या सरेस से जोड़ा जाता था।[15]

1960 का दशक

1960 के दशक में रॉक संगीत की लोकप्रियता के विस्फोट के साथ अनेक और निर्माताओं ने इलेक्ट्रिक बेसों का निर्माण शुरू किया।

पहली बार 1960 में पेश किया गया फेंडर जैज बेस डीलक्स बेस के नाम से जाना गया और जैजमास्टर गिटार की संगत करने के लिए बनाया गया था। जैज बेस (अक्सर "जे-बेस" कहा जाता है) में दो एकल-कुंडली पिकअप थे, एक ब्रिज के नजदीक और एक प्रिसिजन बेस के विभाजित-कुंडली पिकअप स्थान में. बेसों के सबसे पुराने निर्माण में प्रत्येक पिकअप के लिए क्रमबद्ध तीव्रता तथा स्वर नियंत्रण था इसे जल्दी ही प्रत्येक पिकअप के लिए एक तीव्रता नियंत्रण तथा एकल निष्क्रिय स्वर नियंत्रण के परिचित विन्यास में बदल दिया गया। जैज बेस की गरदन नट पर प्रिसिजन बेस से अधिक संकरी थी (1½" बनाम 1¾")

मेपल फ्रेटबोर्ड के साथ 1970 दशक के फेंडर जैज़ बेस

जैज बेस को प्रिसिजन से अलग करने वाला एक दृश्य अंतर इसकी "ऑफसेट-वेस्ट" बॉडी है। प्रिसिजन बेस और जैज बेस पिकअपों में दृश्य एवं विद्युतीय अंतरों के संदर्भ में इलेक्ट्रिक बेसों के पिकअप आकारों को प्रायः “पी” ("P") या “जे” ("J") कहा जाता है। गौरतलब है कि फेंडर ने इस मॉडल के हैडस्टॉक के लिए एक डीकल नोट जैजबेस इलेक्ट्रिक बेस [3] के साथ लेबल चुना.

फेंडर ने टॉकिंग हैड्स की टीना वेमाउथ और द रोलिंग स्टोन्स के बिल वायमैन जैसे बेस वादकों द्वारा प्रयुक्त 30" स्केल लंबाई वाले वाद्ययंत्र मुस्तांग बेस का निर्माण भी शुरू किया (सभी प्रकार के वर्तमान में निर्मित अधिकांश इलेक्ट्रिक बेसोंमें में प्रतिध्वनित होते डिजाइन के "पी" और "जे" बेसों में स्केल लंबाई 34" होती है).

1950 और 1960 के दशकों में, फेंडर के प्रारंभिक प्रभुत्व के कारण इस वाद्ययंत्र को अक्सर “फेंडर बेस” कहा जाता था।

1970 का दशक

एक रिकेंबैकर 4001 बेस.

1970 के दशक ने टॉम वॉकर, फॉरेस्ट व्हाइट और लियो फेंडर द्वारा म्यूजिक मैन इंस्ट्रूमेंट्स की स्थापना होते देखी, जिसने पहले सक्रिय (यंत्रचालित) इलेक्ट्रोनिक्स के साथ व्यापक पैमाने पर उत्पादित, स्टिंगरे (StingRay) का उत्पादन किया। इसके कारण न्यून-अंत निर्गम और समग्र आवृत्ति अनुक्रिया (अधिक न्यून और उच्च) में वृद्धि तथा बेस के पिकअप की निर्गम प्रतिबाधा को कम करते हुए वाद्ययंत्र पर पूर्व प्रवर्धक प्रतिबाधा उत्पन्न होता है। विशिष्ट मॉडल संगीत की अलग-अलग शैलियों की पहचान बन गए, जैसे रिकनबैकर 4001 श्रृंखला, प्रगतिशील रॉक बेसवादक येस के क्रिस स्क्वायर की पहचान बन गई, जबकि फंक बैंड द ब्रदर्स जॉनसन के लुइस जॉनसन स्टिंगरे का इस्तेमाल करते थे।

1971 में, अलेम्बिक ने आदर्श स्थापित किए जो "बुटीक" या “उच्च अंत” इलेक्ट्रिक बेस गिटार के नाम से जाने गए। स्टेनली क्लार्क द्वारा प्रयुक्त इन महंगे, व्यवहार अनुरूपित उपकरणों की विशेषताओं में अद्वितीय डिजाइन, प्रीमियम हस्त-निर्मित लकड़ी की बॉडी, पूर्व प्रवर्धन तथा समकरण के लिए आरोहित इलेक्ट्रोनिक्स, बहु-आपट्टन बॉडी-में से-गरदन निर्माण और ग्रेफाइट गरदन जैसा नवोन्मेषी निर्माण तकनीकें शामिल हैं। 1970 के दशक के मध्य में, अलेम्बिक तथा अन्य बुटीक बेस निर्माताओं जैसे टोबायस ने नीचे "बी" तार सहित चार-तंत्री और पंच-तंत्री बेसों का उत्पादन किया। 1975 में, बेसवादक एंथोनी जैक्सन ने तंत्रवाद्य शिल्पी कार्ल थॉम्पसन को एक बी0, ई1, ए1, डी2, जी2, सी3 समस्वरित छः तंत्री बेस के निर्माण के लिए अधिकृत किया था।

1980 के दशक से 2000 का दशक

1980 के दशक के युग में स्टिंबर्गर हेडलेस बेस

1980 के दशक में, बेस डिजाइनरों ने लिए नए तरीकों का पता लगाना जारी रखा. नेड स्टीनबर्गर ने 1979 में सिर-विहीन बेस पेश किया और ग्रेफाइट तथा अन्य सामग्रियों का उपयोग करते हुए 1980 के दशक में अपने नवाचारों को जारी रखा और (1984 में) अतिद्रुत चालन लयखंड ट्रांस-टर्म पेश किया। 1987 में, गिल्ड गिटार निगम ने पर्दाहीन एशबोरी बेस शुरू किया जिसमें सिलिकॉन रबर तार और एक छोटी 18" स्केल लंबाई के साथ एक डबल बेस ध्वनि प्राप्त करने के लिए एक पीजोइलेक्ट्रिक पिकअप का उपयोग होता था। 1980 के दशक के अंत में, एमटीवी (MTV) के शो “अनप्लग्ड”, जिसमें बैंड्स ने ध्वनिक वाद्ययंत्रों साथ प्रदर्शन किए, ने पिकअप के साथ प्रवर्धित खोखली बॉडी वाले ध्वनिक बेस गिटार को लोकप्रिय बनाने में सहायता की.

1990 के दशक के दौरान, चूंकि पंच तंत्री बेस अधिक व्यापक रूप से उपलब्ध हो गए तथा अधिक किफायती हो गए, बढ़ती हुई संख्या में बेसवादकों ने मेटल से लेकर गोस्पेल तक, मानक "ई" तार के नीचे एक कम रेंज का- एक नीचा "बी" तार जोड़कर पंच-तंत्री वाद्ययंत्र का उपयोग करना शुरू कर दिया. एकल सेटिंग में काफी प्रदर्शन करने वाले कुछ बेसवादकों ने ऊंची रेंज प्राप्त करने के लिए पांचवें तार के रूप में एक ऊंचा "सी" तकर जोड़ कर पंचतंत्री बेसों का उपयोग किया। साथ ही, पटल पर आरोहित बैट्री-चालित इलोक्ट्रोनिक्स, जैसे पूर्व प्रवर्धक और समकारक परिपथ, जो पूर्व में सिर्फ महंगे "बुटीक" वाद्ययंत्रों में ही उपलब्ध थे, तेजी से साधारण मूल्य के बेसों पर उपलब्ध होने लगे.

21वीं सदी के पहले दशक में, कुछ बेस निर्माताओं ने बेसों के कई मॉडलों के स्वरों और ध्वनियों को पुनः उत्पन्न करने के लिए वाद्ययंत्रों के अंदर डिजिटल मॉडलिंग परिपथ शामिल किए (जैसे, लाईन 6 का वेरिएक्स बेस). फेंडर प्रेसिजन बेस तथा फेंडर जैज बेस जैसे पारंपरिक बेस डिजाइन 21वीं सदी के पहले दशक में लोकप्रिय बने रहे; 2006 में फेंडर द्वारा फेंडर जेगुआर बेस को पेश करने के साथ-साथ एक 60वीं एनिवर्सरी पी-बेस पेश किया गया।

अन्य भाषाओं
Afrikaans: Baskitaar
Alemannisch: E-Bass
aragonés: Baixo electrico
العربية: غيتار البيس
asturianu: Baxu
azərbaycanca: Bas gitara
Boarisch: E-Boss
беларуская: Бас-гітара
беларуская (тарашкевіца)‎: Бас-гітара
български: Бас китара
brezhoneg: Gitar-boud
bosanski: Bas-gitara
čeština: Basová kytara
Cymraeg: Gitâr fas
dansk: El-bas
Deutsch: E-Bass
Ελληνικά: Μπάσο
English: Bass guitar
Esperanto: Basgitaro
español: Bajo eléctrico
eesti: Basskitarr
فارسی: گیتار بیس
français: Guitare basse
Gaeilge: Dordghiotár
Gàidhlig: Beus-ghiotàr
galego: Baixo
עברית: גיטרה בס
hrvatski: Bas-gitara
interlingua: Basso
Bahasa Indonesia: Gitar bass
íslenska: Rafbassi
italiano: Basso elettrico
Basa Jawa: Gitar bas
ქართული: ბას-გიტარა
한국어: 베이스 기타
Lëtzebuergesch: E-Bass
Limburgs: Basgitaar
lietuvių: Bosinė gitara
latviešu: Basģitāra
македонски: Бас-гитара
Bahasa Melayu: Gitar bes
မြန်မာဘာသာ: ဘေ့စ်ဂစ်တာ
Nedersaksies: Basgitaar
Nederlands: Basgitaar
norsk nynorsk: Bassgitar
norsk: Bassgitar
português: Baixo elétrico
română: Chitară bas
русский: Бас-гитара
sicilianu: Bassu (chitarra)
srpskohrvatski / српскохрватски: Bas-gitara
Simple English: Bass guitar
slovenčina: Basová gitara
slovenščina: Bas kitara
српски / srpski: Бас-гитара
svenska: Elbas
ślůnski: Basgitara
Türkçe: Bas gitar
українська: Бас-гітара
oʻzbekcha/ўзбекча: Bas gitara
Tiếng Việt: Guitar bass
中文: 電貝斯
粵語: 低音結他