चिन राजवंश

२१० ईसापूर्व में चिन साम्राज्य का नक़्शा
चिन शि हुआंग (秦始皇) जो झगड़ते राज्यों के काल में चिन राज्य (秦国) के शासक और फिर पूरे चीन के पहले चिन राजवंश के सम्राट बने

चिन राजवंश (चीनी:秦朝, चिन चाओ; अंग्रेज़ी: Qin Dynasty) प्राचीन चीन का एक राजवंश था जिसने चीन में २२१ ईसापूर्व से २०७ ईसापूर्व तक राज किया। चिन वंश शान्शी प्रांत से उभर कर निकला और इसका नाम भी उसी प्रांत का परिवर्तित रूप है। जब चिन ने चीन पर क़ब्ज़ा करना शुरू किया तब चीन में झोऊ राजवंश का केवल नाम मात्र का नियंत्रण था और झगड़ते राज्यों का काल चल रहा था। चिन राजवंश उन्ही झगड़ते राज्यों में से एक, चिन राज्य (秦国, चिन गुओ), से आया था। सबसे पहले चिन ने कमज़ोर झोऊ वंश को समाप्त किया और फिर बाक़ी के छह राज्यों को नष्ट कर के चीन का एकीकरण किया।[1] शक्तिशाली होने के बावजूद चिन राजवंश बहुत कम काल तक सत्ता में रहा और उसके बाद चीन में हान राजवंश का उदय हुआ।

शासनकाल

अपने शासनकाल में चिन राजवंश ने व्यापार बढ़ाया, कृषि में उन्नति की और सैन्य रूप से अपने साम्राज्य को सुरक्षित किया। इसमें एक बड़ा क़दम जागीरदारों को हटाना था, जिनका झोऊ ज़माने में हर किसान मोहताज होता था। इस से देश की जनता पर सम्राट का सीधा नियंत्रण हो गया जिस से उसमें बड़े काम करने की क्षमता आ गई। उन्होंने उत्तर के क़बीलियाई लोगों से लगातार आते हमलों को कम करने के लिए चीन की महान दीवार का निर्माण करवाना शुरू किया। चीनी लिपि का और विकास करवाया गया, वज़नों-मापों के लिए कड़े मानक बनवाये गए (जिस से व्यापार और बेच-ख़रीद में आसानी हो गई और विवाद कम हो गए) और मुद्रा (सिक्के और नोट) का विकास किया गया। चिन शासक न्यायवाद में विश्वास रखते थे और इस विचारधारा के अंतर्गत शासकों को अपने नागरिकों पर कड़ा नियंत्रण रखने की सीख दी जाती थी। उन्होंने पहले गए राजवंशों का नाम हमेशा के लिए मिटाने की कोशिश में प्राचीन किताबें और ग्रन्थ जलवाए और ४०० से अधिक विद्वानों को जिंदा दफ़न करवाया। इस से चीन में जो बुद्धिजीवियों का स्वतन्त्र वातावरण चल रहा था, जिसे सौ विचारधाराएँ कहा जाता है, समाप्त हो गया। इन चीज़ों से आने वाले विद्वानों में चिन के अच्छे कामों के बावजूद उन के लिए एक घृणा भी पैदा हो गई।[2] चीन में इस घटना को 'किताब जलाना और विद्वान दफ़नाना' कहा जाता है, जिसके लिए चीनी भाषा में वाक्य 'फ़ेन शू कंग रु' (焚書坑儒) है। जब भी कोई तानाशाह विचारों और बुद्धिजीवियों को कुचलना चाहता है तो चीनी संस्कृति में इस सूत्रवाक्य का प्रयोग होता है।[3]

अन्य भाषाओं
Afrikaans: Qin-dinastie
Alemannisch: Qin-Dynastie
asturianu: Dinastía Qin
български: Цин (3 век пр.н.е.)
brezhoneg: Tierniezh Qin
буряад: Цинь улас
català: Dinastia Qin
Mìng-dĕ̤ng-ngṳ̄: Cìng-dièu
čeština: Dynastie Čchin
Deutsch: Qin-Dynastie
Ελληνικά: Δυναστεία Τσιν
English: Qin dynasty
Esperanto: Dinastio Qin
español: Dinastía Qin
euskara: Qin dinastia
français: Dynastie Qin
贛語:
客家語/Hak-kâ-ngî: Chhìn-chhèu
עברית: שושלת צ'ין
hrvatski: Qin (dinastija)
Հայերեն: Ցին դինաստիա
Bahasa Indonesia: Dinasti Qin
italiano: Dinastia Qin
日本語: 秦朝
Basa Jawa: Wangsa Qin
ქართული: ცინი
ភាសាខ្មែរ: រាជវង្សឈិន
한국어: 진나라
Latina: Domus Qin
lietuvių: Činų dinastija
latviešu: Cjiņu dinastija
монгол: Цинь улс
Bahasa Melayu: Dinasti Qin
မြန်မာဘာသာ: ချင်မင်းဆက်
Nederlands: Qin-dynastie
norsk nynorsk: Qin-dynastiet
occitan: Dinastia Qin
polski: Dynastia Qin
português: Dinastia Chin
română: Dinastia Qin
srpskohrvatski / српскохрватски: Dinastija Qin
Simple English: Qin dynasty
slovenščina: Dinastija Č'in
српски / srpski: Династија Ћин
svenska: Qindynastin
Kiswahili: Nasaba ya Qin
Türkçe: Çin Hanedanı
ئۇيغۇرچە / Uyghurche: چىن سۇلالىسى
українська: Династія Цінь
Tiếng Việt: Nhà Tần
Winaray: Dinastiya Qin
吴语: 秦朝
მარგალური: ცინი
Vahcuengh: Caenzciuz
中文: 秦朝
Bân-lâm-gú: Chîn
粵語: 秦朝