ओलम्पिक में भारत

भारत ऑलंपिक खेलों में

भारत का ध्वजध्वज धारक
IOC कूट IND
NOCभारतीय ऑलंपिक संघ
जालस्थलwww.olympic.ind.in
ऑलंपिक इतिहास
 • ग्रीष्मकालीन खेल
१८९६ • १९०० • १९०४ • १९०८ • १९१२ • १९२० • १९२४ • १९२८ • १९३२ • १९३६ • १९४८ • १९५२ • १९५६ • १९६० • १९६४ • १९६८ • १९७२ • १९७६ • १९८० • १९८४ • १९८८ • १९९२ • १९९६ • २००० • २००४ • २००८ • २०१२  • २०१६
1936 के बर्लिन ओलंपिक में भारतीय हॉकी टीम जिसने आगे चल कर फाइनल में जर्मनी को 8-1 से हराया

ओलम्पिक में भारत ने सबसे पहले 1900 में, एकमात्र खिलाड़ी के साथ भाग लिया, जिसने एथलेटिक्स में दो रजत पदक जीते। 1920 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों में देश ने पहली बार एक टीम भेजी और उसके बाद से हर ग्रीष्मकालीन खेलों में भाग लिया है। १९६४ से शीतकालीन ओलंपिक खेलों में भी भारत ने कई बार भाग लिया है। २०१६ ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक शुरु होने तक भारत के खाते में कुल 26 पदक थे, जो कि सभी ग्रीष्मकालीन खेलों में जीते गए, शीतकालीन खेलों में पदक जीतने में भारत को अभी तक सफलता नहीं मिली है। 1920 और 1980 तक एक लंबे समय तक ओलम्पिक में भारत की राष्ट्रीय हॉकी टीम का दबदबा बना रहा। इस बीच हुए हुए बारह खेलों में से भारत ने ग्यारह पदक जीते जिनमें 8 स्वर्ण पदक थे और 1928-1956 तक छह स्वर्ण पदक लगातार जीते थेा

इतिहास

प्रारंभिक इतिहास

भारत ने सन् १९०० के ओलम्पिक में अपना पहला एथलीट भेजा लेकिन १९२० तक किसी टीम प्रतिस्पर्धा में भाग नहीं लिया। 1920 ओलंपिक से पहले सर दोराब टाटा और बॉम्बे के गवर्नर जॉर्ज लॉयड ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक परिषद में भारत को प्रतिनिधित्व दिलाया। इसके पश्चात् भारत ने 1920 ओलंपिक) में एक टीम भेजी जिसमें चार एथलीट, दो पहलवान और दो प्रबंधक सोहराब भूत और ए एच ए फयज़ी थे। इस प्रकार, प्रारंभिक ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व इस प्रकार था:

  • 1900: एक एथलीट
  • 1920: 6 प्रतियोगी (चार एथलीट, दो पहलवान) और दो प्रबंधक सोहराब भूत और फयज़ी
  • 1924: 14 प्रतियोगी (सात एथलीट, सात टेनिस खिलाड़ी) और प्रबंधक हैरी क्रो बक
  • 1928: 21 प्रतियोगी (सात एथलीट और १४ खिलाड़ियों की एक हॉकी टीम) और प्रबंधक जी डी सोंधी
  • 1932: 30 प्रतियोगी (चार एथलीट, एक तैराक, और १५ खिलाड़ियों की हॉकी टीम) और तीन अधिकारियों की अध्यक्षता प्रबंधक जी डी सोंधी
  • 1936: 27 प्रतियोगी (चार एथलीट, तीन पहलवान, एक बर्मी वजन भारोत्तोलक, और १९ खिलाड़ियों की हॉकी टीम) और तीन अधिकारियों सहित प्रबंधक जी डी सोंधी
  • 1948: 79 प्रतियोगी और कुछ अधिकारियों की अध्यक्षता में शेफ डे मिशन मोइन उल हक
  • 1952: 64 प्रतियोगी और कुछ अधिकारियों की अध्यक्षता में शेफ डे मिशन मोइन उल हक

हाल का इतिहास

2012 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में 83 सदस्यीय भारतीय दल ने कुल छह पदक जीतकर अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन किया। 2016 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में 118 सदस्यीय टीम प्रतिस्पर्धा में शामिल है।

अन्य भाषाओं
Simple English: India at the Olympics