अकल दाढ़

अक्ल दाढ़
अक्ल दाढ़
अक्ल दाढ़
अक्ल दाढ़ की कुछ समस्याएँ

अकल दाढ या तीसरे दाढ उन दाँतों के नाम हैं जो आखिर में निकलते हैं। अधिकतर लोगों को चार अकल दाढ होते हैं - मुँह के हर कोने में एक - ये ज्यादातर जवानी में निकलते हैं।

यह संभव है कि अकल दाढ जबड़ों की हड्डी में अटक जाएं, या फिर निकलें ही नहीं। ऐसा होने पर बाकी दाँत ठसने या खिसकने लग सकते हैं, या नजदीकी दाँतों में सड़न या संक्रमण हो सकता है या मसूड़ों में बीमारी फैल सकती है। जबड़ों में अकल दाढ के अटकने का कारण यह हो सकता है कि वे किसी असाधारण अवस्था में हों, जैसे कि सपाट, जिसकी वजह से वो सामान्य रूप से बाहर नहीं निकल सकते। अधिकतर लोगों को अटके हुए अकल दाढ को निकलवाने की सलाह दी जाती है। दाँत की अवस्था के अनुसार, तीसरे दाढ (अकल दाढ) को आपके दाँत के डॉक्टर के दफ्तर में, किसी बाहरी रोगी क्लिनिक में या अस्पताल में भर्ती करके निकाला जा सकता है। सामान्यतया एक व्यस्क की अकल दाढ निकलने के बाद उसके दाँतों की संख्या ३२ हो जाती है |

अन्य भाषाओं
العربية: ضرس العقل
azərbaycanca: Ağıl dişi
bosanski: Umnjak
čeština: Zub moudrosti
Deutsch: Weisheitszahn
Ελληνικά: Φρονιμίτης
English: Wisdom tooth
فارسی: دندان عقل
français: Dent de sagesse
עברית: שן בינה
Bahasa Indonesia: Gigi bungsu
日本語: 親知らず
한국어: 사랑니
Bahasa Melayu: Gigi bongsu
Nederlands: Verstandskies
português: Siso
русский: Зуб мудрости
Simple English: Wisdom teeth
slovenčina: Zub múdrosti
српски / srpski: Умњак
svenska: Visdomstand
українська: Зуби мудрості
Tiếng Việt: Răng khôn
中文: 智齿
Bân-lâm-gú: Tì-hūi-khí